Administration

बिजली चोरी : जेई हुए निलंबित, तीन अभियंताओं पर विभागीय कार्यवाही

Prepaid meter will also get electricity bill

North bihar muzaffarpur electric bill

NBPDCL – Muzaffarpur Suspended 20 Junior Engineer

राजस्व वसूली में लापरवाही पर नॉर्थ बिहार पावर डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी लिमिटेड के अलग-अलग जिलों के 20 कनीय विद्युत अभियंताओं का सात दिनों का वेतन स्थगित कर दिया गया है। शुक्रवार को एनबीपीडीसीएल के प्रबंध निदेशक मुकुल कुमार गुप्ता ने समीक्षा बैठक में कार्रवाई की। इसमें मुजफ्फरपुर में एसटीएफ की जांच रिपोर्ट के आधार पर बिजली चोरी में संलिप्त पाए जाने पर कई इंजीनियरों पर कार्रवाई हुई है।

20 कनीय अभियंताओं का सात दिनों का वेतन रुका

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से हुई इस समीक्षा बैठक में पाया गया कि 20 जूनियर इंजीनियरों ने लक्ष्य से काफी कम बिल की वसूली की है। न्यूनतम वसूली नहीं करने के कारण ही इन इंजीनियरों के सात दिनों का वेतन स्थगित करने का निर्णय लिया गया। एमडी ने कहा कि वित्तीय वर्ष 2021-22 समाप्ति की ओर है। इसलिए लक्ष्य की पूर्ति जरूरी है। जनवरी में एनबीपीडीसीएल में 459 करोड़ राजस्व की वसूली हुई है। फरवरी में 763 करोड़ की वसूली का लक्ष्य है।

इसके तहत मीनापुर के कनीय विद्युत अभियंता मुकुंद मोहन दास को निलंबित किया गया, जबकि मुजफ्फरपुर पूर्वी के कार्यपालक अभियंता मनोज कुमार जायसवाल, सहायक अभियंता प्रभात कुमार सिंह, कनीय विद्यु़त अभियंता नीरू कुमारी के विरुद्ध विभागीय कार्यवाही शुरू करने का निर्णय लिया गया। समीक्षा के दौरान एमडी ने कंपनी के इंजीनियरों को लक्ष्य के अनुसार बिजली बिल वसूलने के लिए भी कहा है। वहीं, आम उपभोक्ताओं से अपील करते हुए कहा कि लोग समय पर बिजली बिल जमा करें। हाल में शहर लेकर ग्रामीण क्षेत्र में बकाया वसूली को लेकर इंजीनियरों को टारगेट दिया गया है। शहरी क्षेत्र में फरवरी माह में 17 करोड़ बकाया वसूली का टारगेट है। पिछले महीने भी तय टारगेट के अनुसार 7 करोड़ वसूली से विभाग पीछे रह गया था। इसको लेकर विभाग की ओर से कार्यपालक अभियंता व जूनियर इंजीनियर को हिदायत दी गई थी। कार्रवाई के तहत पिछले महीने पंद्रह सौ के करीब कनेक्शन काटे गए हैं।

Click to comment

Leave a Reply

Most Popular

To Top
%d bloggers like this: